3 रिकार्ड्स जिसने सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान बना दिया

महान डॉन ब्रेडमैन जिसमे अपना अक्स देखते थे, महान सुनील गावस्कर ने जिसके कदमों में अपना सजदा किया और महान शेन वार्न के सपनों में जो शख्स आता था उनका नाम है सचिन तेंदुलकर। अपने 24 साल के क्रिकेट कैरियर में सचिन ने उस शिखर को छुआ जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। 5 फुट 5 इंच के इस क्रिकेटर के नाम कोई 10 या 20 नहीं बल्कि पूरे 69 रिकार्ड्स हैं। सचिन ने हमेशा यही कहा कि वे रिकॉर्ड के लिए नहीं खेले बल्कि रिकॉर्ड तो अपने आप बनते गए हैं। ऐसे में 3 रिकॉर्ड ऐसे है जिनसे सचिन क्रिकेट जगत में हमेशा के लिए अमर हो गए हैं।

आज बात करने जा रहे हैं उन्ही तीन रिकार्ड्स कि जिसके वजह से इस खिलाडी को क्रिकेट जगत का भगवान भी कहा जाता है।

 

1. शतकों का शतक

ये sachin tendulkar records में सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। सचिन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में पूरे 100 शतक मारे हैं। जिनमें से 51 शतक टेस्ट सीरीज में और 49 शतक वनडे में मारे हैं। इतना ही नहीं शतकों का शतक मारने वाले इस धाकड़ बल्लेबाज ने ना जाने कितनी ही बार 99 रन पर ग्राउंड को अलविदा कहा है। यकीनन अपनी दुरन्धर बल्लेबाजी के कारण ही सचिन तेंदुलकर इतना प्रसिद्ध थे के आज भी उनके लिए उनके फैंस दीवाने रहते हैं।

 

2. सबसे ज्यादा मैच खेले और सबसे ज्यादा बार रहे मैन ऑफ़ दा सीरीज

Sachin tendulkar  मात्र 17 वर्ष की उम्र में भी मैदान में बल्ला ले कर उतर गए थे ऐसे में अपने 24 साल के क्रिकेट अन्तराल में सचिन ने 661 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले जिनमें से 198 टेस्ट मैच और 463 ओडीआई। सचिन के पास सर्वाधिक मैन ऑफ़ दा मैच और मैन ऑफ़ दा सीरीज अवार्ड हैं। भारत के लगभग सभी बड़े मैचों में सचिन जरूर होते थे और एक महान खिलाड़ी की भूमिका निभाते थे।

 

3. वर्ल्ड कप में सर्वाधिक रन

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर द्वारा बनाया गया ये रिकॉर्ड भी ऐसा है जो आसानी से नहीं टूट सकता। सचिन के द्वारा खेले गए 6 वर्ल्ड कप में उन्होंने 2278 रन बनाये हैं। हालांकि अगर कोई क्रिकेटर लगातार वर्ल्ड कप खेले तो वो इस रिकॉर्ड की बराबरी करने के बारे में सोच सकता है परंतु हर बार वर्ल्डकप मैच के लिए चुने जाना और फिर स्टेडियम में ऐसी धुआंदार बल्लेबाजी करना अपने आप में ही बहुत बड़ी बात है।

 

सचिन ने लोगों के मन में वो विश्वास पैदा किया की जब तक वे खेल के मैदान में हैं भारत को हराना एक बहुत बड़ी चुनौती है। उन्होंने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से ना जाने कितने ही मैचों में पूरा खेल ही पलट कर रख दिया और मुश्किल स्थितियों में भारत को जीत दिलाई। इतना ही नहीं सचिन तेंदुलकर द्वारा कई आंकड़े आज भी ऐसे हैं जो आसानी से टूटते हुए नहीं दिखते हैं। लेकिन सिर्फ आकड़ों ने व sachin tendulkar records ने ही उन्हें क्रिकेट का भगवान नहीं बनाया बल्कि पिछले 24 सालों में सचिन ने क्रिकेट के फैंस को जो खुशी दी है वो कोई इंसान नहीं बल्कि भगवान ही दे सकता है। इसलिए उन्हें क्रिकेट का भगवान कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *