apple company logo story

दुनिया में कई कंपनियां हैं जिनके लोगो काफी मशहूर हुए हैं ऐसी ही एक मोबाइल और टेक्नोलॉजी कंपनी है एप्पल। कंपनी एप्पल ने पूरे विश्व के बाजार में खुद को इस तरह स्थापित किया है की लोग एप्पल का लोगो देख कर ही उसके उत्पाद खरीद लेते हैं। फोन के पीछे बने एप्पल के उस लोगो के लिए लोग ना जाने कितनी ही कीमत चुका देते हैं। आपने सभी ने भी मशहूर और शक्तिशाली कंपनी “एप्पल” का लोगो तो जरूर देखा होगा। यह भी हो सकता है कि आपके पास एप्पल का आईफोन या आईपैड हो। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि apple company logo का सेब थोड़ा सा कटा हुआ क्यों होता है। होने को तो यह सेब पूरा से भी हो सकता था। परंतु ऐसा नहीं है तो इसकी वजह क्या है। तो आज आपको हम बताते हैं एप्पल के आधे कटे हुए सेब के बारे में।

 

 

एप्पल कंपनी के लोगो की कहानी –

 

दरअसल वर्ष 1977 में एक डिज़ाइनर रॉब दिसेनो ने इस लोगो को तैयार करके एप्पल के संस्थापक “स्टीव जॉब्स” को दिखाया था। पहली ही नजर में steve jobs को यह चखे हुए सेब का लोगो भा गया था। चखे हुए सेब के लोगो के बारे में बताया जाता है कि यह लोगो कंप्यूटर साइंस के पिता माने जाने वाले एलिन टर्निन् की याद में बनाया गया था। जिनकी 1954 में संगदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी थी।

बताते हैं की एलिन के शव के पास से एक चखा हुआ सेव बरामद हुआ था हलाकि वह सेव जेह्रीला था और उससे ही एलिन टर्निन् की मौत हुई। कहा जाता है इस घटना को याद करते हुए स्टीव जॉब्स ने एलिन टर्निन् की याद में ही एप्पल को अपनी कंपनी का लोगो चुन लिया।

 

वहीं दूसरी तरफ apple company logo के पीछे ये काहनी भी बताई जाती की एप्पल steve jobs का सबसे पसंदीदा फल था। अमरीका के कैलिफ़ोर्निया राज्य में स्टीव का अपना एक सेव का बगीचा भी था। कहा जाता है की  स्टीव जॉब्स सेव को एक दिलचस्प फल मानते थे क्युकी सेव ही एक ऐसा फल है जिसकी आकृति थोड़ी सी काटने के बाद भी पहचान नहीं बदलती है। इसलिए एप्पल कंपनी के लिए इस तरह का ही लोगो तैयार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here