एक नींबू मिटा सकता है जीवन के सभी संकट और दुख, जानिए कैसे

नींबू के टोटके

कुछ लोग टोटके को अन्धविश्वास मानते हैं तो कुछ लोगों का इन पर अटूट विश्वास होता है। अगर आप भी इस पर विश्वास रखते है तो आपके लिए ये टोटके बहुत काम के है। हमने ज्यादातर देखा है की छोटे शहरों में हर दूकान के बहार नीबू के साथ मिर्ची बांध कर लटका दी जाती है। इतना ही नहीं ऐसा गाड़ियों, बसों और ट्रक के आगे भी देखने को मिल जाता है। जिसके पीछे हर इंसान के अपने अपने कारण हैं। वैसे तो नींबू से बहुत से उपाय किए जाते हैं पर आज हम आपको नींबू से किए जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण उपाय के बारे में बताते हैं जो आपके जीवन के संकट और दुखों को दूर कर सकते हैं।

 

1. बीमारी

 

 

यदि आप या आपके घर में कोई अत्यधिक बीमार है और उस पर कोई दवाई असर नहीं कर रही तो इसके लिए नींबू का उपाय किया जा सकता है। इस उपाय को करने के लिए बीमार व्यक्ति के सर से पैरों तक सात बार नींबू उसार लें। इसके पश्चात उस नींबू को चार भागों में ऐसे काटें कि वह नीचे से जुड़े रहें। इसके बाद नींबू को घर के बहार किसी सुनसान स्थान या चौराहे पर फेंक आए। कहते हैं जो भी व्यक्ति उस नींबू को स्पर्श कर लेता है या उसे पार कर चला जाता है उसे बीमार व्यक्ति की सारी बीमारी लग जाती है और इससे बीमार व्यक्ति कुछ ही पल बाद ठीक हो जाता है। इस उपचार को जानने के बाद आप यह भी ध्यान रखें की यदि आपको सड़क पर कोई ऐसा नीबूं दिखे जिसे बीच में से चार भाग में कटा हो लेकिन पूरी तरह से अलग नहीं किया गया हो तो उस नींबू से दूर रहे अन्यथा आप पर कोई भी विपदा आ सकती है।

 

2. आर्थिक समस्या

 

अगर आपका व्यापर ठीक से नहीं चल रहा है या धंधे में घाटा हो रहा है तो शनिवार के दिन आपको नींबू के टोटके करके देखना चाहिए। इस उपाय को करने के लिए आपको एक नींबू लेना है और उसे अपनी दूकान की चारों दीवार से स्पर्श कराना है। इसके बाद नींबू को चार टुकड़ों में काट कर चौराहे पर जाकर चारों दिशाओं में उस नींबू का एक एक टुकड़ा फैंक दें।
वैसे तो ज्यादातर दुकानदार अपनी दूकान को बुरी नजर से बचने के लिए नींबू के साथ मिर्ची लगाकर लटका देते हैं। लेकिन कुछ दिन बाद जब नीबू मिर्ची सूख जाते है। तब यहाँ नकारात्मक ऊर्जा सोखने में असमर्थ हो जाते है। ऐसे में इंसान को चाहिए की सूखे हुए नीबू मिर्ची को फेककर ऊपर बताया गया टोटका अपनाये और और उसके बाद दूकान पर नीबू मिर्ची से बना रक्षासूत्र पुनः टांग दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *